डॉक्टर असलम खान ने हृदय रोग व सही उपचार के बारे में विस्तार पूर्वक समझाया.

0
212
सीपीआर कैसे, कब और किस स्थिति में किया जाता है. ओमेगा 3 और ओमेगा 6 का हार्ट डिजीज से में क्या रोल है. एस्प्रिन की जगह हम कौन सा फल दे सकते हैं. बायपास सर्जरी सीएबीजी कब करवानी चाहिए तथा कैसे की जाती है, आज प्राचार्य डॉक्टर असलम खान ने इन  सभी गहन विषयों को एलईडी और लैपटॉप की मदद से अत्याधुनिक विधि को छात्र-छात्राओं सहित सभी डॉक्टर्स को बेहद सहज तरीके से समझाया उन्होंने प्राथमिक उपचार द्वारा हृदय को हृदय आघात से कैसे बचाया जा सकता है  विस्तार पूर्वक  प्रयोग करके बताया. सेमिनार में उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश के अनेक चिकित्सकों ने भाग लिया और अपने विचार रखे
डॉक्टर असलम ने बताया कि विश्व के प्रथम चिकित्सक श्री धन्वंतरी ने बताया कि हृदयाघात की चिकित्सा प्राकृतिक तरीके से अर्थात नेचुरोपैथी से भी की जा सकती है
अर्जुन के पत्तों को अलसी के तेल में पकाकर शिरोधारा करने से कोलेस्ट्रॉल और हृदय की बीमारी ठीक हो जाती है एनएमसी नेचुरोपैथी हॉस्पिटल में इस प्रकार की सारी सुविधाएं मौजूद हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here