हरियाणा पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) श्री बी एस संधू हुए सेवानिवृत्त।

0
213

चंडीगढ़ (सुधीर सलूजा) 31 जनवरी -हरियाणा पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) श्री बी एस संधू आज सेवानिवृत्त हो गए। श्री संधू को 27 अप्रैल, 2017 को डीजीपी हरियाणा नियुक्त किया गया था।

हरियाणा पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) श्री बी.एस. संधू द्वारा पुलिस प्रमुख रहते हुए राज्य पुलिस बल को मजबूत करने के उद्देश्य से हरियाणा पुलिस में कांस्टेबल से लेकर पुलिस महानिरीक्षक तक के 7049 नए पद सृजित करवाये गए।
          पुलिस विभाग के  प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस में बढ़ते वर्कलोड के मद्देनजर श्री संधू की दूरदर्शी सोच, सकारात्मक दृष्टिकोण और प्रयासों के फलस्वरूप पहली बार इतनी भारी संख्या में नए पदों का सृजन किया गया। इन अतिरिक्त पदों से पुलिस प्रबंधन को कानून एवम व्यवस्था को और अधिक मजबूत बनाने तथा नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में  सहायता मिल सकेगी।
           उनके कार्यकाल के दौरान, आईजीपी का एक पद, एसपी के 6 पद, एडिशनल एसपी के 18, डीसीपी के 3, डीएसपी के 61 पद, निरीक्षकों के 118, एसआई के 369, एएसआई के 488, हेड कांस्टेबल के 1304 और कांस्टेबलों के 3941 नए पदों को सरकार द्वारा मंजूरी दी गई।
          इसके अलावा, पुलिस मुख्यालय के कानूनी विंग को मजबूत करने के लिए, अतिरिक्त निदेशक (कानून) का एक पद, उप जिला अटार्नी के 4 और अस्सिटेंट जिला अटॉर्नी के दो नए पदों की स्वीकृति प्रदान की गई। इसी प्रकार, सहायक और लिपिक का एक -एक, स्टेनो के 11 और फार्मासिस्ट के एक पद को भी मंजूरी दी गई। साथ ही, चिकित्सा अधिकारियों के 9 व पशु चिकित्सक की एक पोस्ट को भी राज्य सरकार ने स्वीकृति प्रदान की। कुल पोस्ट में से 6341 पद पुरुष के लिए और 708 महिला के लिए स्वीकृत किए गए। डीजीपी के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान एसपीओ और होमगार्ड स्वयंसेवकों के 4609 पदों पर भी नियुक्ति की गई।
         नए पुलिस स्टेशनों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में कानून और व्यवस्था मशीनरी के बेहतरीन बनाने के लिए श्री बीएस संधू के पुलिस प्रमुख कार्यकाल के दौरान प्रदेश में 52 नए पुलिस स्टेशनों का निर्माण किया गया । इसके अतिरिक्त, अप्रैल 2017 से अब तक दो साइबर पुलिस स्टेशन, 28 प्रवर्तन पुलिस स्टेशन भी स्वीकृत किये गए।
          पुलिस प्रमुख के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान, सरकार की पारदर्शी भर्ती नीति के तहत गत वर्ष उच्च योग्यता प्राप्त 4225 कांस्टेबलों की भर्ती की गई। वर्तमान में 7110 पदों की भर्ती जारी है।
          पुलिसकर्मियों को बेहतर आवासीय व कार्यस्थल सुविधाएं प्रदान करने के लिए भी श्री संधू द्वारा सार्थक प्रयास किए। हाल ही में 384 घरों वाले मेगा पुलिस हाउसिंग कॉम्प्लेक्स के निर्माण के अलावा, उन्होंने राज्य सरकार द्वारा हुडको के माध्यम से 1050 करोड़ रुपये के अतिरिक्त फंड की मंजूरी प्रदान करवाई। पुलिसकर्मियों और उनके परिवार को हर एक सुविधा चाहे वह क्वालिटी एजुकेशन की बात हो, खेल के मैदान हो, पार्क हो, कम्युनिटी सेंटर हो, या मार्केट हो सभी तरह की सुविधाएं पुलिस लाइन में उपलब्ध करवाई गई है या करवाई जा रही हैं।
          श्री संधू ने हरियाणा एसटीएफ के गठन में भी अहम भूमिका निभाई जो वर्तमान में खूंखार और कट्टर अपराधियों पर सफल कार्रवाई कर रही है। मितर कक्ष की अवधारणा को साकार करने के अतिरिक्त, श्री संधू के कार्यकाल के दौरान की गई अन्य अभिनव पहल में महिलाओं की सुरक्षा के लिए दुर्गा शक्ति ऐप लॉन्च करना, दुर्गा शक्ति रैपिड एक्शन फोर्स का गठन, हरियाणा 100 परियोजना, पंचकुला में राज्य स्तरीय पुलिस स्मारक की मंजूरी, स्टेट डिजास्टर रिस्पोंस फोर्स व महिला रिजर्व बटालियन की स्थापना और एचपीएस और एचसीएस अधिकारियों की लंबे समय से चली आ रही वेतन विसंति को दूर करना शामिल है।
          श्री संधू 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, जिन्होंने हरियाणा पुलिस में 34 वर्षों तक सेवा की और 31 जनवरी, 2019 को सेवानिर्वत हुए। उनके सम्मान में आज पुलिस कांम्पलैक्स मधुबन में विदाई सम्मान परेड समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर हरियाणा सषस्त्र पुलिस बल के जवानों द्वारा श्री सन्धू को सलामी दी गई तथा जिसकी अगुवाई उप-पुलिस अधीक्षक श्री शक्ति सिंह ने की।
श्री संधू ने कहा कि आईपीएस के तौर पर विभिन्न पदों पर रहते हुए उनके सामने भी ऐसी अनेक चुनौतियों की भरमार रही जो किसी को भी मायूस कर सकती थी। लेकिन वो कभी विचलित नहीं हुए बल्कि चुनौतियों का डटकर सामना किया। यह इसलिए संभव हो पाया क्योंकि मैं जानता था कि मेरे साथ मेरा सशक्त पुलिस परिवार है जिसकी कर्तव्यनिष्ठा और विश्वसनीयता अपने आप में एक मिसाल है। उन्होने कहा कि हरियाणा पुलिस आज देश की सर्वोत्तम पुलिस फोर्स बनकर उभरी है।
इस अवसर पर श्री संधू ने पुलिस पब्लिक स्कूल की एक काफी टेबल बुक का भी अनावरण किया।
इस सम्मान समारोह में हरियाणा पुलिस अकादमी के निदेषक श्री के0 के0 सिन्धु के साथ पुलिस महानिदेषक जेल श्री के0 सेल्वराज, पुलिस महानिदेषक मुख्यालय श्री  के0 के0 मिश्रा, पुलिस महानिदेषक अपराध श्री पी0 के0 अग्रवाल, अतिरिक्त पुलिस महानिदेषक, कानून एवम् व्यवस्था श्री मोहम्मद अकील, अतिरिक्त पुलिस महानिदेषक गुप्तचर विभाग श्री अनिल कुमार राव, श्री अतिरिक्त पुलिस महानिदेषक, संचालन श्री ए0 एस0 चावला, अतिरिक्त पुलिस महानिदेषक करनाल रेंज श्री नवदीप सिहं विर्क, पुलिस महानिरीक्षक आधुनीकीकरण श्री हरदीप सिंह दून, पुलिस महानिरीक्षक विजिलैंस श्री सुभाष यादव, पुलिस महानिदेषक सेवानिर्वत श्री लायक राम डबास, पुलिस महानिदेषक सेवानिर्वत श्री एम0 एस0 मानए अन्य उच्च पुलिस अधिकारी व श्री संधू के परिजन भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here