‘विशेष जल संरक्षण अभियान’ के संदर्भ में हरियाणा सरकार के उच्चाधिकारियों की हुई बैठक।

0
943
नई दिल्ली (सुधीर सलूजा) प्रधानमंत्री के ‘जल शक्ति अभियान’ की दिशा में हरियाणा सरकार द्वारा प्रारंभ किए गए       ‘ विशेष जल संरक्षण अभियान’ के सफल कार्यान्वयन के लिए विशेष दिशा निर्देश दिए गए।
           उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी  के ‘जल शक्ति अभियान’ की दिशा में हरियाणा सरकार द्वारा 01 जुलाई से 15 सितम्बर तक चलाए जा रहे ‘ विशेष जल संरक्षण अभियान’ को धरातलीय रूप देने के लिए हरियाणा की मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनंद अरोडा ने नई दिल्ली में हरियाणा सरकार के  उच्चाधिकारियों की बैठक में अभियान के क्रियान्वयन के संबंध में विभिन्न बिंदुओं पर विचार विमर्श करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न 19 जिलों के प्रभारी अधिकारियों  को अभियान के सफल कार्यान्वयन के लिए निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने समय-समय पर नियमित रूप से विवरण प्रस्तुत करने व वर्षा जल संचय  की दिशा में  जिला क्षेत्रों में किए गए प्रेरणादायक कार्यों को भी एक-दूसरे से सांझा करने पर बल  दिया।
        उल्लेखनीय है कि ‘विशेष जल संरक्षण अभियान’ के अतंर्गत जिला जल सरंक्षण योजनाएं तैयार की जाएंगी । जिला क्षेत्रों में विशेष रूप से वर्षा जल संचय के विभिन्न स्थानों को चिन्हित किया जाएगा। सरकारी भवनों के अतिरिक्त अन्य भवनों में भी वर्षा जल सचंय प्रणाली को विस्तार दिया जाएगा। वर्षा जल सचंय प्रणाली के पुराने संयंत्रो को पुनः दुरूस्त कर संचालित किया जाएगा। वर्षा जल सचंय प्रक्रिया को विस्तार देने की दिशा में प्रत्येक जिला क्षेत्र में 100  बोरवैलों/ स्थानों  को चिन्हित किया जाएगा। प्राकृतिक जल स्त्रोतों व तालाबों का जीर्णोद्धार भी किया जाएगा। हरित क्षेत्र के विस्तार की दिशा में पौधारोपण भी अभियान में प्रमुख रूप से शामिल रहेगा।
          शहरी क्षेत्रों में भी वर्षा जल सचंय,सीवरेज शोधन प्रणाली,पौधारोपण व अन्य संबंधित बिंदुओं के लक्ष्य प्राप्ति के लिए योजनाबद्ध व समयबद्ध रूप से कार्य किया जाएगा।
जल शक्ति अभियान’ की दिशा में हरियाणा की शहरी स्थानीय निकाय मंत्री श्रीमती कविता जैन ने भी  बुधवार को चंडीगढ़ में अधिकारियों की बैठक में जिम्मेदारियां तय करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।वर्षा जल सचंय के बारे में जागरूकता की दिशा में विद्यार्थियों की भूमिका भी सुनिश्चित की जा रही है। मुख्य सचिव ने वर्षा जल सचंय अभियानों  में गैर सरकारी संगठनों व कार्पोरेट क्षेत्र द्वारा एक साथ मिलकर कार्य किए जाने पर भी बल दिया।
           बैठक में विकास एवं पंचायत विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल, सिचाई विभाग के प्रधान सचिव श्री अनुराग रस्तोगी, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रधान सचिव श्री आनंद मोहन शरण, हरियाणा के अतिरिक्त स्थानीय आयुक्त श्री चंद्रशेखर खरे व अन्य अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में केंद्र के भी विभिन्न उच्चाधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here