शिक्षा एक अत्यंत पवित्र पेशा, सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं- डॉ ए के भागी

Education is a very holy profession, Happy Teacher's Day to all the teachers- Dr. A.K.Bhagi

0
589

नई दिल्ली, एनडीटीएफ ने शिक्षक दिवस पर शिक्षकों के लिए जारी शुभकामना संदेश में कहा कि शिक्षा एक अत्यंत पवित्र पेशा है ।एनडीटीएफ अध्यक्ष डॉ ए के भागी ने बताया कि इस दिन को शिक्षकों के मुद्दों के समाधान करने ,अच्छी सेवा शर्तों ,शिक्षण संस्थान और शिक्षकों की क्षमता में वृद्धि ,विद्यार्थियों के भविष्य के लिए तैयार करने वाली शिक्षा और उनमें देशभक्ति और राष्ट्रीयता की भावना पैदा करने वाले दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए ।उन्होंने कहा कि शिक्षक दिवस को राजनीति से प्रेरित विरोध दिवस के रूप में मनाने की बजाय सकारात्मक रूप में लिया जाए। एनडीटीएफ ने दिल्ली विश्वविद्यालय, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग और शिक्षा मंत्रालय से मांग की है कि तदर्थ शिक्षकों के नियमितीकरण/ समायोजन की दिशा में तुरंत और ठोस कदम उठाए जाने चाहिए ।
संगठन के महासचिव डॉ बी एस नेगी ने दिल्ली सरकार के 12 कॉलेजों में अनुदान और वेतन को नियमित रूप से जारी करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अब इस समस्या को ज्यादा नहीं लटकाना चाहिए ।उन्होंने बताया कि समय पर वेतन और ग्रांट न मिलने के कारण शिक्षक कर्मचारियों को महामारी के दौर में अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है ।दिल्ली सरकार के पूर्ण वित्त पोषित कॉलेजों में संसाधनों का अभाव है जिसके चलते विद्यार्थियों को दिक्कत का सामना करना पड़ता है। आंशिक रूप से वित्त पोषित 16 कॉलेजों में भी 5% ग्रांट नियमित रूप से जारी रखने की मांग की गई है।

एनडीटीएफ अध्यक्ष ने कहा कि नई शिक्षा नीति को 4 वर्ष की राष्ट्रीय स्तर की बहस के बाद लागू किया जा रहा है जिसमें विद्यार्थियों, कमजोर वर्ग और शिक्षाविदों के लिए अनेक सकारात्मक पहलुओं को समाहित किया गया है । एनडीटीएफ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के इन सकारात्मक आयामों का स्वागत करता है लेकिन यदि कोई प्रावधान नकारात्मक होगा जिसके कारण शिक्षक संख्या ,सरकारी अनुदान या सेवा शर्ते प्रभावित होगी तो उसके लिए एनडीटीएफ संघर्ष करने के लिए तैयार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here