हरियाणा सरकार जनभागीदारी की सरकार है-बंडारू दत्तात्रेय

Haryana government is a government of public participation - Bandaru Dattatreya

0
138

नई दिल्ली ,हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने नई दिल्ली में प्रगति मैदान में आयोजित 40 वें  भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला में हरियाणा मंडप का अवलोकन किया। अवलोकन के दौरान हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार जनभागीदारी की सरकार है। गत सात वर्षो में हरियाणा प्रदेश ने विभिन्न क्षेत्रों में अभूतपूर्व विकास किया है।सुशासन स्थापित हुआ है। कार्यप्रणाली में प्रदर्शिता स्थापित हुई है। भ्रष्टाचार को पूर्णरूप से समाप्त करने की ओर सरकार के सतत प्रयास रहते हैं।इसके लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल प्रशंसा व धन्यवाद के पात्र हैं।
        हरियाणा के राज्यपाल ने कहा कि हरियाणा सरकार ने प्रदेश में मानव संसाधन को बेहतर बनाया है। कार्यप्रणाली में पारदर्शिता के लिए तकनीक का व्यापक उपयोग किया जा रहा है। हरियाणा सरकार की उद्योग नीति के परिणामस्वरूप प्रदेश में उद्यमिता व निवेश को गति मिली है। हरियााण प्रदेश ने विभिन्न क्षेत्रों विशेषकर उद्योग,आवास, विद्युत क्षेत्र में उल्लेखनीय उन्नति की है।
       हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने हरियाणा मंडप का अवलोकन किया। अवलोकन के दौरान हरियाणा व्यापार मेला प्राधिकरण की मुख्य प्रशासक व महिला एवं बाल विकास विभाग की प्रधान सचिव डाॅ जी अनुपमा तथा हरियाणा व्यापार मेला प्राधिकरण की प्रशासक श्रीमती सोफिया दहिया भी मौजूद रही।
       उल्लेखनीय है कि ‘ हरियाणा मंडप’ आगंतुकों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।’आत्मनिर्भर भारत-आत्मनिर्भर हरियाणा’ विषयवस्तु के साथ हरियाणा प्रदेश गत वर्षों की भांति सक्रिय रूप से भागीदारी कर रहा है। हरियाणा मंडप में हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय व हरियाणा के मुख्यमंत्री  श्री मनोहर लाल के संदेश प्रदेश सरकार के विजन के परिचायक है।
                उल्लेखनीय है कि हरियाणा देश के सर्वाधिक प्रगतिशील राज्यों में शामिल है।हरियाणा प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में हुई उन्नति को हरियाणा मंडप में बेहतर रूप से प्रदर्शित किया गया है।”एक आदर्श निवेश गंतव्य-अंतहीन अवसर” के संदेश के साथ हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम के विभिन्न मेगा फूड पार्क,फुटवियर पार्क,आईएमटी व अन्य औद्योगिक क्षेत्रों का विवरण प्रदर्शित किया गया है। हरियाणा राज्य से होने वाले निर्यात को    राज्य की प्रगति के रूप में प्रदर्शित किया गया है। हरियाणा का वर्ष 1967-68 में 4.5 करोड रूपये का निर्यात बढकर वर्ष 2020-21 में 1,74,572 करोड रूपए तक पहुंच गया।
      हरियाणा कृषि एवं व्यवसाय निती , सूक्ष्म,लघु एवं मध्यम उद्योग निती. तथा हरियाणा उद्यम और रोजगार निती  को भी प्रदर्शित किया हुआ है। ‘एक खंड-एक उत्पाद’ को हरियाणा सरकार के एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में प्रदर्शित किया गया है। एकीकृत विमानन हब को प्रदर्शित किया गया है।कौशल विकास प्रशिक्षण के मिशन के रूप में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय का विवरण प्रदर्शित किया हुआ है।
           उद्योगों की मांग व आवश्यकता के अनुसार तकनीकी शिक्षा के विकास को दर्शाया गया है। तकनीकी शिक्षा के विकास और तकनीकी विश्वविद्यालयों, इंजिनियरिंग काॅलेजों,बहुतकनीकी संस्थानों व अन्य संस्थानों का विवरण दिया हुआ है। इसके अतिरिक्त आईआईआईटी सोनीपत, आईआईएम रोहतक, नेशनल इंस्टीट्यूट आफ डिजाइन कुरूक्षेत्र व नैशनल इंस्टीट्यूट आफ फैशन टेक्नोलॉजी का विवरण दिया हुआ है।
     विद्युत क्षेत्र में हरियाणा के विद्युत निगमों का लाभ में होने तथा ‘म्हारा गांव जगमग गांव’ योजना के परिणामस्वरूप हरियाणा के दस जिलों में चौबीस घंटे विद्युत आपूर्ति को दर्शाया गया है। हरियाणा के 5367 गांवों में 24 घंटे व 1658 गांवों में 16 घंटे से 18 घंटे विद्युत आपूर्ति का विवरण प्रदर्शित किया गया है। स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार विवरण दर्शाया गया है। हरियाणा को खेलों के एक हब के रूप में प्रदर्शित किया हुआ है। ओलंपिक व पैरालम्पिक के विजेता खिलाडियों को दी गई पुरस्कार राशि व अन्य सुविधाओं का विवरण दिया हुआ है।
     परिवार पहचान-पत्र योजना का विस्तृत विवरण प्रदर्शित किया हुआ है। परिवार पहचान-पत्र बनाने वाला हरियाणा देश का प्रथम राज्य है। वालंटियर सेवा के विस्तार की दिशा में ‘समर्पण’ कार्यक्रम को शानदार रूप से प्रदर्शित किया हुआ है। केंद्र सरकार की योजनाओं को भी सही रूप में डिस्प्ले किया हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here