हरियाणा विधानसभा में सरकार के खिलाफ विपक्ष द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव धड़ाम|

No confidence motion brought by the opposition against the government in the Haryana Legislative Assembly collapses

0
527

चंडीगढ़, कांग्रेस द्वारा बीजेपी-जेजेपी सरकार के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव आज 23 मतों से गिर गया। प्रस्ताव के पक्ष में कुल 32 मत पड़े, जबकि विपक्ष में 55 मत पड़े।
वोटिंग से ठीक पहले मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने सदन में प्रस्ताव पर चर्चा का अपना जवाब देते हुए कहा कि विपक्ष के पास राजनीतिक रोटियां सेंकने के अलावा और कोई मुददा नहीं है। किसान आंदोलन की आड़ में विपक्ष द्वारा लगातार किसानों को बरगलाने का काम किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने विपक्ष को आइना दिखाते हुए कहा कि आंदोलन को उकसाने की बजाए इसे खत्म करवाने की पहल की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव को लाना कांग्रेस की पुरानी संस्कृति है। जब भी उन्हें कोई बात पसंद न आए तो वे अविश्वास प्रस्ताव लाने का काम करते हैं। मुझे लगता है कि इनके अविश्वास का कारण हमारी निरंतर सफलता है, क्योंकि जनता के साथ हमारा गहरा विश्वास बना हुआ है। उन्होंने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा किए गये सभी जनहित के कार्यों पर कांग्रेस पार्टी अविश्वास पैदा करती है। चुनाव आने पर ईवीएम पर इन्हें अविश्वास होने लगता है। वीर सैनिकों द्वारा पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक पर भी कांग्रेस ने स्वाल उठाकर सेना का मनोबल गिराने का काम किया है।
उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस का अहंकार है जिससे उन्हें लगता है कि वे सरकार को कभी भी गिरा सकते हैं या बना सकते हैं। शायराना अंदाज में उन्होंने विपक्ष पर चुटकी लेते हुए कहा कि आग लगाने वालों को नहीं खबर, रुख हवा का बदला तो खाक वो भी हो जाएंगे। अविश्वास प्रस्ताव पर विपक्ष की किरकिरी के बाद अब उनकी एकजुटता पर भी सवालिया निशान लगने लगे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here