विवेकानंद कॉलेज के बाहर धरना प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों को पुलिस ने हटाया

Police removed teachers protesting outside Vivekananda College

0
358

नई दिल्ली, दिल्ली विश्वविद्यालय से संबंद्ध विवेकानंद कॉलेज के बाहर धरना प्रदर्शन पर बैठे शिक्षकों को पुलिस ने हटा दिया| पुलिस का कहना है कि कोरोना की वजह से धारा 144 लगी हुई है इसलिए शिक्षकों को यहां से हटाया गया है| जबकि शिक्षकों का आरोप है कि पुलिस ने विवेकानंद कॉलेज की प्रिंसिपल के दबाव में शिक्षकों को यहां से हटाया है| शिक्षकों ने बताया कि हम शांतिपूर्ण तरीके से कोरोना की गाइडलाइंस को मानते हुए उचित दूरी बनाकर प्रदर्शन कर रहे थे| आज हमारी रोजी-रोटी छिन गई है |अपनी रोजी-रोटी के छीने जाने पर विरोध प्रदर्शन करना गुनाह तो नहीं है |एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपील कह रहे है कि इस महामारी के दौरान किसी को नौकरी से न हटाया जाए, दूसरी तरफ हमारे 12 शिक्षकों को नौकरी से हटाया गया है|

शिक्षकों ने बताया कि 12 तदर्थ शिक्षकों को नौकरी से हटाने की कार्यवाहक प्रिंसिपल की कठोर कार्रवाई, न केवल 5 दिसंबर, 2019 के एमएचआरडी पत्र के मानदंडों को अस्वीकार करने के समान है, बल्कि वर्तमान महामारी की स्थिति में आजीविका के अधिकार से इनकार करना भी अन्यायपूर्ण और अमानवीय है। शिक्षकों ने बताया गया है कि इन 12 शिक्षकों में से छह परिवार सहित कोविड से पीड़ित हैं। 29 अप्रैल 2021 को इन तदर्थ शिक्षकों को नौकरी से हटाया गया उस समय दिल्ली सहित पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर अपनी चरम सीमा पर थी| उस मुश्किल घड़ी में जब हर कोविड-19 पेशेंट ऑक्सीजन, दवाई आईसीयू बेड व अस्पताल में दाखिले के लिए परेशान था |उस समय इन कोरोना संक्रमित तदर्थ शिक्षकों को टर्मिनेट कर और उनकी सैलरी रोक कर अस्थाई प्रिंसिपल ने अपना अमानवीय चेहरा दिखाया, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here