‘स्पूतनिक वी’ पहुंची भारत, अगले हफ्ते से बाजार में उपलब्ध होने की उम्मीद

'Sputnik V' reaches India, expected to be available in the market from next week

0
451

नई दिल्ली, कोवैक्सीन और कोविशील्ड के बाद अब भारत में स्स्पूतनिक वी वैक्सीन भी लोगों को लगाई जाएगी। अगले हफ्ते से रूस की कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक बाजार में आ जाएगी। स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी.के पॉल ने बताया कि अगले हफ्ते से देश के लोगों को स्पूतनिक टीका भी लगाया जाएगा। उन्होंने कहा, “स्पूतनिक वी वैक्सीन देश में आ गई है। मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि अगले हफ्ते हमें उम्मीद है कि यह बाजार में उपलब्ध हो जाएगी। पहली सप्लाई आ चुकी है और जुलाई महीने से यह देश ने बननी शुरू हो जाएगी। हमें, स्पूतनिक की 15.6 करोड़ डोज बनने की उम्मीद है।”

216 करोड़ वैक्सीन डोज उपलब्ध होने की उम्मीद

डॉ. वी. के पॉल ने आगे कहा कि देश में सभी तक वैक्सीन उपलब्ध करवाने के लिए हर स्तर पर काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि अगस्त से दिसंबर तक देश में कुल 216 करोड़ वैक्सीन डोज उपलब्ध होने की उम्मीद है। इसमें 75 करोड़ कोविशील्ड, 55 करोड़ कोवैक्सीन, 30 करोड़ बॉयो ई सब यूनिट वैक्सीन, 5 करोड़ जायडस कैडिला डीएनए वैक्सीन, 20 करोड़ एसएआई नोवावैक्स, 10 करोड़ बीबी नेजल वैक्सीन, 6 करोड़ जिनोवा वैक्सीन और 15 करोड़ डोज स्पुतनिक की उपलब्ध होने की उम्मीद है। इसके अलावा दूसरी विदेशी वैक्सीन भी आ सकती है।

राज्य चाहते थे फ्लेक्सिबिलिटी इसलिए बनाई गई नई पॉलिसी

डॉ. वी. के पॉल ने कहा कि वैक्सीनेशन को लेकर जो नई पॉलिसी बनाई गई है, वह इसलिए बनी क्योंकि राज्य चाहते थे कि कुछ फ्लेक्सिबिलिटी मिले और वह खुद कुछ फैसले करें। हमनें उनके साथ मिलकर इस फैसले को माना और आगे बढ़ने का एक रास्ता तय किया। यह भी मांग थी कि प्राइवेट सेक्टर में भी वैक्सीन उपलब्ध हो। उन्होंने ने कहा, “कोई भी वैक्सीन जो डब्ल्यूएचओ, एफडीए द्वारा अप्रूव्ड है वह आ सकती है, उन्हें इंपोर्ट लाइसेंस 2 दिन में मिल जाएगा।”

इसके साथ, जैव प्रौद्योगिकी विभाग के अनुसार, मई-जून, 2021 तक कोवैक्सीन की उत्पादन क्षमता दोगुनी हो जाएगी। वहीं जुलाई-अगस्त, 2021 तक लगभग 6 से 7 गुना तक बढ़ जाएगी। सितंबर, 2021 तक प्रति माह लगभग 10 करोड़ खुराक पहुंचने की उम्मीद है।

वैक्सीन लगाने में भारत, विश्व में नंबर-1 पर

बता दें, देशभर में अबतक 17 करोड़ लोगों को ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। इसके साथ ही भारत दुनिया में सबसे तेजी से टीकाकरण करने के मामले में नंबर-1 देश बन गया है। भारत ने 114 दिनों में यह आंकड़ा पार किया है। भारत के बाद अमेरिका ने यह आंकड़ा 115 दिन में पार किया था, जबकि चीन ने 119 दिनों में छुआ।
स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, 13 मई सुबह 10 बजे तक लगी कुल वैक्सीन का 40.3% वरिष्ठजनों को, 45.6% टीका 45 से 60 वर्ष की आयुवर्ग के लोगों को, 9.2% टीके 30 से 45 वर्ष की आयु वर्ग के लोगों को और 4.9% टीके 18 से 30 वर्ष की आयु वर्ग के नागरिकों को लगाए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here