हर नारी की आवाज़ है कुलदीप कौशिक की फिल्म ‘नार का सुर’

The voice of every woman is Kuldeep Kaushik's film 'Nar Ka Sur'

0
56

दिल्ली, इन दिनों आगामी 5 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली फिल्म नार का सुर काफी चर्चा में है। खासकर सोशल मीडिया पर इस फिल्म को दर्शकों का काफी प्यार और प्रोत्साहन देखने को मिल रहा है। 2 जुलाई को रिलीज हुए ट्रेलर को देखने के बाद देश की कई बड़ी-बड़ी हस्तियों नें इस फिल्म में अपनी उत्सुकता जाहिर की है। फिल्म जगत से लेकर राजनीति और कला जगत से जुड़ी हस्तियों नें अपने वीडियो शेयर कर इस फिल्म के मेकर्स को बधाई दी और लोगों से आगामी 5 अगस्त को सिनेमाघरों में जाकर इस फिल्म को देखने की अपील की। ट्रेलर लान्च होते ही ट्विटर पर भी ये छाया रहा और ट्विटर पर #NaarKaSurTrailerReleased ट्रेंड करता रहा। नार का सुर में फिल्माए गए अनोखे कबड्डी के खेल ने ऑडिएंस को काफी रोमांचित किया है।

नारियों को कमजोर समझने वालों के मुंह पर तमाचा होगी यह फिल्म।
जब भी किसी नारी के आत्मसम्मान या उसके परिवार पर कोई आंच आती है तो नारियाँ सदैव ही आगे आकर नेतृत्व करती हैं। नारी स्वयं में शक्ति की परिचायक हैं लेकिन समाज के एक तबके के लोग नारियों को कमजोर समझने की भूल करते हैं। मेकर्स का मानना है कि ये फिल्म ऐसे संकुचित मानसिकता वाले लोगों के गाल पर तमाचा साबित होगी और नारी शक्ति की मिसाल पेश करेगी।

फिल्म में नहीं कास्ट किया कोई बड़ा स्टार
गौरतलब है कि इस फिल्म में आपको लगभग सभी नए चेहरे दिखाई देंगे। फिल्म के मेकर्स नें नामी एक्टरों के बजाय नए चेहरों को मौका देकर बॉलीबुड में डेब्यु कराया है। फिल्म के डायरेक्टर कुलदीप कौशिक कहा “उन्हें स्टार नहीं उम्दा एक्टरों की तलाश थी और ये तलाश हमें भारत के कोने—कोने तक ले गई। इस फिल्म के एक्टर्स देश के कोने-कोने से चुने गए हैं। इन सभी एक्टर्स को एक जगह लाकर फिल्म शूट करना काफी मेहनत का काम था लेकिन हमारी मेहनत का नतीजा है कि आज लोग इस फिल्म की चर्चा कर रहे हैं। हमें उम्मीद ही नहीं पूरा विश्वास है कि यह फिल्म लोगों तक पहुंचेगी और समाज पर अपना प्रभाव छोड़ने में कामयाब होगी।‘’-कुलदीप कौशिक ने आगे कहा।
12 नारियों की 24 कहानियां बनेंगी नारी शक्ति की मिसाल
फिल्म के मेकर्स ने बताया कि इस फिल्म में 12 नारियों की 24 कहानियां हैं। हर नारी दो-दो मोर्चे पर संघर्ष कर रही होती है। पहला मोर्चा उसके घर का होता है और दूसरा मोर्चा घर के बाहर का होता है। दोनों फ्रंट पर नारियां जिस तरह से संघर्ष करती हैं वो नारी शक्ति की एक मिसाल बनेगी।

मेल और फीमेल में कबड्डी ने दोगुना किया रोमांच
भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में पहली बार ऐसा हो रहा है जिसमें किसी खेल में महिला वर्सेज पुरुष टीम की भिडंत दिखाई गई है। कबड्डी अपने आपमें एक दमदार खेल है और इस फिल्म में मेल वर्सेज फीमेल का अनोखा कबड्डी का खेल होने से फिल्म को लेकर दर्शकों में रोमांच दो गुना हो गया है।

ललित परिमू और मन्नत सिंह ने की है दमदार एक्टिंग
शक्तिमान धारावाहिक के डॉ. जैकाल के रूप में मशहूर जाने माने अभिनेता ललित परिमू इस फिल्म में विलेन का किरदार निभा रहे हैं। उनकी दमदार डायलॉग डिलिवरी और एक्टिंग का जादू ट्रेलर देखने के बाद से ही दर्शकों पर छा गया। वहीं पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री की जानी-मानी अभिनेत्री मन्नत सिंह भी मुख्य भूमिका में दिखेंगी। अपने कड़क अंदाज के लिए मन्नत सिंह को भी काफी पसंद किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here