समाज में महिला शिक्षा के महत्व को महर्षि दयानंद सरस्वती ने बखूबी समझा-मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर

0
946

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर, 2018(सुधीर सलूजा)- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने महर्षि दयानंद सरस्वती के महिला शिक्षा पर रोशनी डालते हुए कहा कि समाज में महिला शिक्षा के महत्व को महर्षि दयानंद सरस्वती ने बखूबी समझा। यही कारण है कि दयानंद ने महिला शिक्षा को प्रारंभ किया। आज भी महिलाओं को शिक्षा के साथ-साथ उन्हें शिक्षा और अधिकार दिलाने की आवश्यकता है। गर्भ में ही भ्रूण को खत्म किया जाता रहा था, इसलिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बेटी बचाओ-बेटी पढाओ नारे के साथ 22 जनवरी, 2015 को इस आंदोलन का आगाज किया। इस नारे के असर के बारे में पूरे देश के बारे में तो नहीं पता, लेकिन हरियाणा की जनता ने इस चुनौती को स्वीकार किया। यहां यह दर 850 से भी नीचे थी जो अब बढ़कर 931 तक जा पहुंचा है।ये उक्त बातें हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने  रोहिणी के जापानी पार्क में चल रहे अंतरराष्ट्रीय आर्यसम्मेलन के दौरान कही।

ज्ञात हो कि अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का यह तीसरा दिन था जिसमें हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, हरियाणा के वित्त मंत्री कैप्टेन अभिमन्यु, बीजेपी के वरिष्ठ नेता विजय गोयल समेत कई जानी-मानी हस्तियों ने हिस्सा लिया। इस चार दिवसीय सम्मेलन में 28 देशों के तीन हजार से ज्यादा प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here