गुजवि में 11 को 1800 बेटियों को मिलेगा कानूनी अधिकारों का ज्ञान, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के एक माह के विशेष अभियान का होगा शुभारंभ: उपायुक्त

0
938
हिसार, 8 जुलाई (सुधीर सलूजा) :  प्रशासन द्वारा गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय के चौ. रणबीर सिंह ऑडिटोरियम में 11 जुलाई को सुबह 10 से 12 बजे तक 1800 बेटियों के लिए कानूनी अधिकारों की जानकारी और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के प्रति जागरूकता के लिए एक वर्कशॉप का आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम में जिला के सरकारी व निजी स्कूलों में 11वीं व 12वीं कक्षाओं में पढऩे वाली छात्राएं भागीदारी करेंगी।
उपायुक्त अशोक कुमार मीणा ने बताया कि जिला में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को और अधिक प्रभावी ढंग व इनोवेटिव तरीके से चलाने के लिए एक विशेष कार्ययोजना तैयार की गई है। इसके तहत आगामी एक माह तक प्रति सप्ताह महिलाओं व बेटियों के लिए अलग-अलग गतिविधियां आयोजित की जाएंगी जिसमें माय एफएम रेडियो मीडिया पार्टनर की भूमिका निभाएगा। इस अभियान का विधिवत् शुभारंभ 11 जुलाई को गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित एक वर्कशॉप के माध्यम से किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि वर्कशॉप में सरकारी व निजी स्कूलों की 1800 छात्राओं को शामिल किया जाएगा जहां उन्हें उनके कानूनी अधिकारों की जानकारी दी जाएगी ताकि वे इनके प्रति जागरूक हो सकें और समाज में अपनी प्रभावी उपस्थिति दर्ज करवाने में सक्षम हो सकें। वर्कशॉप के दौरान कानून विशेषज्ञ जहां उनके लिए बने कानूनों का ज्ञान देंगें वहीं बाल संरक्षण अधिकारी, जिला संरक्षण अधिकारी व महिला व बाल विकास विभाग की अधिकारी उनके लिए चलाई जा रही विभागीय व सरकारी योजनाओं और नीतियों से अवगत करवाएंगे। इसके अलावा शिक्षा विभाग के अधिकारी विभिन्न क्षेत्रों में करियर की संभावनाओं, की जाने वाली तैयारियों और जरूरी औपचारिकताओं के बारे में उनका मार्गदर्शन करेंगे। उन्होंने बताया कि मेरा कानून-मेरा अधिकार थीम के साथ शुरू होने वाले इस सप्ताह के दौरान अलग-अलग कॉलेज व स्कूलों में भी छात्राओं को उनके कानूनी अधिकारों के संबंध में जागरूक किया जाएगा।
उपायुक्त ने बताया कि अभियान के दूसरे सप्ताह में मेरी सुरक्षा मेरा अधिकार विषय पर किसी एक स्कूल से लड़कियों के लिए आत्मरक्षा कार्यक्रम की शुरूआत की जाएगी जहां सेल्फ डिफेंस गतिविधियां सीखाकर उनमें आत्मविश्वास पैदा किया जाएगा। इसके अलावा उनके लिए स्कूलों व कॉलेजों में एनसीसी, एनएसएस, स्काउट्स व जूडो प्रशिक्षण के शिविर लगाए जाएंगे। लड़कियों को सड़क सुरक्षा व गुड टच-बैड टच के संबंध में भी जागरूक किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि तीसरे सप्ताह में लड़कियों व महिलाओं के स्वास्थ्य पर आधारित कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस सप्ताह जिला के अति कुपोषित बच्चों तक पोषक खाद्य सामग्री की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए भी क्रियाकलाप किए जाएंगे। लड़कियों के साथ-साथ गर्भवती व रक्त की कमी की शिकार महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच की जाएगी तथा उन्हें दवाइयां व फल आदि प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस सप्ताह में पांच दिन तक प्रतिदिन 2-2 खंडों को कवर करते हुए छठे दिन महिलाओं को मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन के प्रति जागरूक करने के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
उपायुक्त ने बताया कि चौथे सप्ताह में फिल्ड के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसके तहत महिलाओं को जागरूक करने के लिए नारी चौपाल आयोजित की जाएंगी तथा हर माह की 24 तारीख को जिला के प्रत्येक खंड के कम से कम 10 गांवों में बेटी जन्मोत्सव मनाया जाएगा जिसमें बेटियों को जन्म देने वाली माताओं को सम्मानित किया जाएगा। इसके अलावा माताओं को एक-एक पौधा दिया जाएगा जो बेटियों के नाम पर रोपित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि वे स्वयं किसी स्कूल में जाकर बेटियों की कक्षा लेंगे तथा उनके साथ लंच करेंगे। अभियान के दौरान जिला की कोई भी महिला या लड़की माय एफएम रेडियो के माध्यम से अपनी समस्या या सुझाव उपायुक्त के साथ सांझा कर सकती हैं जिनका जवाब भी उपायुक्त रेडियो के माध्यम से देंगे।
एक माह के इस विशेष अभियान के अंतर्गत महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने के लिए जागरूक किया जाएगा तथा उन्हें स्टैंड-अप योजना के तहत ऋण दिलवाने में मदद की जाएगी। अभियान के तहत बुजुर्ग महिलाओं को बेटियों के महत्व के प्रति जागरूक करने व अपना नजरिया बदलने पर भी विशेष फोकस किया जाएगा। इसके तहत 18 से 23 साल की लड़कियों के वोट बनवाने के लिए विशेष शिविर लगवाए जाएंगे, प्रसव पूर्व भू्रण लिंग जांच पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने, महिला चिकित्सकों के माध्यम से किशोरियों को उनके शारीरिक परिवर्तन के प्रति जागरूक करने, भीख मांगने वाले बच्चों, विशेषकर लड़कियों व स्लम बस्तियों में रहने वाली लड़कियों को स्कूल तक पहुंचाने के संबंध में भी विविध गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here