मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने किया हरियाणा के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन।

0
704
हिसार, 15 अगस्त। देश के 72वें स्वतंत्रता दिवस पर हरियाणा को हवाई अड्डे की सौगात देते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज राज्य के पहले एयरपोर्ट का विधिवत उद्घाटन किया। इस अवसर पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय व स्पाइस-जेट के बीच एमओयू भी साइन किया गया। पशुपालन विभाग की 3600 एकड़ भूमि नागरिक  उड्डयन मंत्रालय के नाम करते हुए इसके दस्तावेज भी मंत्रालय को सौंपे गए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देश में क्षेत्रीय हवाई कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए घरेलू हवाई नेटवर्क यानी उड़ान योजना के तहत हिसार में तीन चरणों में समेकित हवाई अड्डा विकसित किया जा रहा है। इसके पहले चरण का आज मुख्यमंत्री ने उद्घाटन किया। दूसरे चरण के लिए आज हरियाणा के नागरिक उड्डयन विभाग व स्पाईज जेट के बीच समझौते पर हस्ताक्षर भी किए गए। मुख्यमंत्री की उपस्थिति में हरियाणा की ओर से प्रधान सचिव देवेंद्र सिंह तथा स्पाइस-जेट की तरफ से मुख्य प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने हस्ताक्षर किए।
उद्घाटन उपरांत पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हिसार के हवाई अड्डे के लिए पूर्व में कई राजनीतिक पार्टियों ने वायदे किए थे, परंतु किसी ने इसको गंभीरता से नहीं लिया। जब वर्तमान सरकार ने इस योजना को सिरे चढ़ाना शुरू किया तो कुछ नेता राजनीति से इस्तीफा देने तक की बात तक कही। अब वे इस्तीफा देने की बजाए हिसार आकर हवाई अड्ïडे को देखें। क्षेत्रीय हवाई कनेक्टिविटि बढ़ाने के लिए घरेलू हवाई नेटवर्क योजना उड़ान के तहत स्वीकृत किए गए सभी हवाई अड्डों में सबसे पहले हरियाणा ने हिसार में इस काम को पूरा कर दिखाया है, इसके लिए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों की कार्य प्रणाली की सराहना करते हुए कहा कि रिकॉर्ड समय में यह कार्य पूरा हुआ है।
हवाई अड्डे के दूसरे व तीसरे चरण के लिए राजकीय पशुधन फार्म की 3600 एकड़ भूमि का हस्तांतरण भी आज नागरिक उड्डयन विभाग को किया गया। पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुनील गुलाटी ने नागरिक  उड्डयन विभाग के देवेंद्र सिंह को आवश्यक दस्तावेज मुख्यमंत्री व राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु की उपस्थिति में सौंपे। पत्रकारों द्वारा पूछे गए एक प्रश्र के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि इस हवाई अड्डे को राजनीतिक फायदे या चुनाव से जोडक़र नहीं देखा जाना चाहिए। जब स्वर्ण जयंती समापन समारोह में इसकी घोषणा की गई थी तो उसके बाद योजना को आगे बढ़ाया और आज रिकॉर्ड समय में पहले चरण का कार्य पूरा हो गया है।
उन्होंने बताया कि पिनाकले एयरवेज लिमिटिड द्वारा सप्ताह में छह उड़ान सेवाएं दिल्ली व चंडीगढ के लिए शुरू की जाएंगी। यात्रियों से लगभग 1450 रुपये किराया वसूला जाएगा, जबकि 2800 से 3000 रुपये वाईव्ल गैप फंडिग(वीजीएफ) हरियाणा की ओर से दिया जाएगा। सरकार की ओर से यह राशि प्रधानमंत्री की हवाई चप्पल वाला भी यात्रा करे हवाई जहाज में उड़ान योजना के तहत दिया जाएगा। दूसरे व तीसरे चरण में यहां पर कारगो ट्रमिनल, एमआरओ, फलाईंग क्लब, सिविल एविएशन यूनिवर्सिटी और ऐयरो डिफैंस यूनिवर्सिटी भी खोली जाएंगी। उन्होंने बताया इंदिरा गांधी अंतर्राष्टï्रीय हवाई अड्ïडा नई दिल्ली में वायु यातायात के दबाव को कम करने में हिसार का हवाई अड्डा एक वैकल्पिक हवाई अड्ïडे के रूप में सबसे उपयुक्त स्थल होगा। दिल्ली व हिसार को हाई स्पीड रेल कैनक्टिविटी तथा नियंत्रित एक्सप्रेस-वे से जोडऩे की योजनाओं पर भी प्रक्रिया जारी है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि नागरिक उड्डयन के क्षेत्र में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध हों, इसके लिए पिंजोर, करनाल, बाछोद व भिवानी की हवाई पट्ïटियों के रनवे की लंबाई भी पांच हजार फुट तक की जाएगी। हिसार में रनवे की लंबाई नौ हजार फुट तक की जाएगी जो एक स्टैंडर्ड अंतर्राष्टï्रीय अड्डे के लिए आवश्यक है। एक अन्य प्रश्र के उत्तर में मुख्यमंत्री ने कहा कि कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे भी वर्ष 2009 में पूरा हो जाना चाहिए था, परंतु उस समय की सरकार ने इसको उलझाए रखा। हमने ही इसको पूरा किया है। उन्होंने कहा कि हवाई अड्डा व एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं से औद्योगिक विकास के साथ-साथ युवाओं के लिए रोजगार के नये-नये अवसर भी सृजत होंगे।
मुख्यमंत्री ने यात्री ट्रमिनल का अवलोकन भी किया और दूसरे व तीसरे चरण के विस्तार के बारे में स्पाईज जैट के प्रबंध निदेशक अजय सिंह से विस्तार से जानकारी भी ली। अजय सिंह ने कहा कि जितना सहयोग हरियाणा सरकार की ओर से उन्हें दिया गया है, उसकी शायद ही कल्पना भी नहीं की हो। आरसीएस उड़ान योनजा के तहत पूरे देश में हवाई अड्ïडे विकसित किए जा रहे हैं, परंतु हरियाणा ने देश में सबसे पहले यह कार्य पूरा किया है और चारों तरफ से लोग उनसे जानकारी भी मांग रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि उनकी कंपनी दूसरे व तीसरे चरण के विस्तार की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट लगभग 18 महीने रिकॉर्ड समय में पूरा करेगी।
इस अवसर पर वित्त एवं राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, टोहाना विधायक एवं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला, कॉन्फेड चेयरमैन कैप्टन भूपेंद्र सिंह, हरियाणा सार्वजनिक उपक्रम ब्यूरो के चेयरमैन डॉ. कमल गुप्ता, वेयर हाउस निगम के चेयरमैन श्रीनिवास गोयल, हरियाणा अनुसूचित वित्त एवं विकास निगम की चेयरमैन सुनीता दुग्गल, नागरिक उड्डयन विभाग के निदेशक अशोक सांगवान, उपायुक्त अशोक कुमार मीणा, आईजी सीआईडी अनिल राव, पुलिस अधीक्षक शिवचरण, हिसार हवाई अड्डे के अतिरिक्त निदेशक विंग कमांडर सेवानिवृत एस.एस बुधवार, भाजपा जिलाध्यक्ष सुरेंद्र पूनिया, जिला महामंत्री सुजीत कुमार व आशा रानी खेदड़, सोनाली फोगाट, सरोज सिहाग, रतन सैनी, कृष्ण बिश्रोई, सुरेश गोयल धूपवाला, रणधीर सिंह धीरू, चेयरमैन महावीर जांगड़ा, प्रवीन जैन, सुनील वर्मा, सुरेश एमसी व संदीप गंगवा सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी व भाजपा पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here