शहीद उपनिरीक्षक नरेन्द्र कुमार की हत्या करने वाले जल्द ही होंगे सलाखों के पीछे : डीजीपी

0
1043

पंचकूला – 9 अगस्त -पुलिस महानिदेशक हरियाणा श्री बी.एस. सन्धू ने आज कहा कि पुलिस कर्मी की हत्या करने वाले जल्द ही सलाखों के पीछे होंगे। उन्होने यह भी कहा कि शहीद हुए उपनिरीक्षक नरेन्द्र कुमार के परिजनों को हरियाणा सरकार की तरफ से 30 लाख तथा बैंक की ओर से 30 लाख समेत 60 लाख की राशि दी जाएगी। वह आज हांसी रोड स्थित शिवपुरी में रोहतक में शहीद हुए पुलिसकर्मी नरेन्द्र कुमार के अंतिम संस्कार के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होने कहा कि बड़े खेद का विषय है कि पुलिसकर्मी नरेन्द्र कुमार डयूटी के दौरान शहीद हो गए। वह रोहतक की अदालत में करनाल से युवती को लेकर पेशी के लिए गए थे। अचानक हमलवारों ने हमला बोल दिया। सब इन्सपैक्टर नरेन्द्र कुमार ने बहादुरी का परिचय दिया। उन्होने अपनी जान की परवाह न करते हुंए युवती को बचाने की कोशिश की। वहां मौजूद महिला पुलिसकर्मी ने युवती की सास को बचाया। मगर इस हमले में सब इन्सपैक्टर नरेन्द्र कुमार शहीद हो गए। युवती की भी हत्या कर दी गई। हरियाणा पुलिस पर यह हमला कायरतापूर्ण है। डीजीपी ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस ने कुछ लोगो को राऊंडअप किया है। किसने हमला करवाया के सवाल के जवाब में डीजीपी ने कहा कि शुरूआती जांच में सामने आया कि हमला युवती के परिजनों ने ही करवाया है। फिर भी पुलिस जांच कर रही है। हरियाणा पुलिस इस केस को सख्ती से निपटेगी। एक सवाल के जवाब में डीजीपी ने कहा कि पुलिस की नौकरी मुश्किलो से भरी है। कई चुनौतियां सामने है। लेकिन मुझे हरियाणा पुलिस पर विश्वास है कि वह हर चुनौती से निपटेगी। उन्होने यह भी कहा कि कोर्ट कम्पलैक्स में कैमरे भी लगे है। लेकिन पुलिस पर इस तरह से हमला होगा। इसकी उम्मीद कतई नहीं थी कि परिवार के लोग ही ऐसा करेगे। उन्होने कहा कि पुलिस की कोशिश रहेगी कि अपराधियों को न केवल जल्द ही पकड़ा जाए। बल्कि इस केस को फास्ट ट्रैक अदालत में ले जाकर जल्द ही सजा दिलवाई जाए। क्या युवती के परिजनो ने शूटर हायर किए थे, के सवाल के जवाब में डीजीपी ने कहा कि पुलिस इस मामले की गहनता से जांच कर रही है। उन्होने यह भी कहा कि जिस महिला पुलिसकर्मी ने युवती की सास की जान बचाई है। उसे हरियाणा पुलिस रिवार्ड देगी। शहीद की विधवा को विभाग की तरफ से पेंशन दी जाएगी। डीजीपी ने यह भी कहा कि शहीद हुए उपनिरीक्षक नरेन्द्र कुमार के बेटे को सरकारी नौकरी दिए जाने की सरकार को सिफारिश की जाएगी। डयूटी के दौरान शहीद हुए उपनिरीक्षक नरेन्द्र कुमार को शहीद का दर्जा देने पर सरकार फैंसला करेगी। उन्होने यह भी कहा कि पूरा पुलिस महकमा शहीद हुए उपनिरीक्षक नरेन्द्र कुमार के परिजनों के साथ खड़ा है। शहीद हुए उपनिरीक्षक नरेन्द्र कुमार हमेशा हरियाणा पुलिस के कर्मियों को न केवल प्ररेणा देते रहेंगे। बल्कि हमेशा याद रखे जाएंगे। इससे पहले डीजीपी बी.एस सन्धू ने शहीद हुए उपनिरीक्षक नरेन्द्र कुमार के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें सैल्यूट करते हुए सलामी दी। इस अवसर पर भाजपा के जिलाध्यक्ष जगमोहन आनन्द ने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर की तरफ से पुलिसकर्मी पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। करनाल के आई.जी नवदीप सिंह विर्क तथा करनाल के एसपी सुरेन्द्र सिंह भोरिया, नीलोखेड़ी के विधायक भगवानदास कबीरपंथी तथा स्वच्छ भारत मिशन के कार्यकारी उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र ने भी पुष्प अर्पित कर शहीद हुए उपनिरीक्षक नरेन्द्र कुमार को अंतिम विदाई के समय श्रद्धांजलि अर्पित की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here