” गांधी को अपनाने की जरूरत है” शीर्षक पर एक विशेष लेक्चर का आयोजन संपन्न हुआ

A special lecture on "Gandhi needs to be adopted" concluded

0
173

दिल्ली, दिल्ली विश्वविद्यालय के शताब्दी महोत्सव एवं आजादी के 75 वे अमृत महोत्सव के महान अवसर पर दिल्ली विश्वविद्यालय का प्रतिष्ठित गांधी भवन, जिसके निर्देशक, बहुआयामी एवं बहुमुखी प्रतिभा के धनी प्रोफेसर के पी सिंह है । गांधी भवन जिसका मुख्य उद्देश्य महात्मा गांधी के सपनों के भारत के लिए उनके द्वारा प्रतिपादित सिद्धांतों एवं विचार को भारत की प्रत्येक गांव एवं युवा पीढ़ी तक पहुंचाना है। आज दिनांक 26 मई, 2022 को सामाजिक विज्ञान संकाय के सत्यकाम ऑडिटोरियम में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के विचारों के संदर्भ में एक विशेष लेक्चर का आयोजन संपन्न किया गया, जिसका शीर्षक” गांधी को अपनाने की जरूरत है” विषय पर रखा गया है। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विजय गोयल, उपाध्यक्ष, गांधी स्मृति भवन एवं एवं भारत सरकार के पूर्व केंद्रीय मंत्री जी की गरिमामय उपस्थिति रही। श्री विजय गोयल जी ने महात्मा गांधी के जीवन के विभिन्न आयामों, उनके संघर्ष, त्याग, सत्याग्रह, समर्पण , सत्य और अहिंसा के मूल मंत्रों को आज की पीढ़ी को अपनाने पर बल दिया। आज का समृद्ध भारत के लिए सेवा भाव रखने की पुरजोर वकालत की।
हम गांधी तभी बन सकते हैं जब गांधी के व्यवहार के साथ जिया जाए।
इस कार्यक्रम की अध्यक्षता दिल्ली विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ विकास गुप्ता के सफल नेतृत्व में संपन्न हुआ । विशेष सानिध्य डीन ऑफ कॉलेज प्रोफेसर बलराम पाणी का रहा।
विशिष्ट अतिथि श्री सतीश उपाध्याय, उपाध्यक्ष, महानगर कार्यपालिका परिषद , नई दिल्ली, प्रोफेसर कुमार रत्नम, सदस्य सचिव, अखिल भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली, दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष, प्रोफेसर एके भागी , जैसे सम्मानित महानुभाव ने महात्मा गांधी की सरलता,कार्य के प्रति दक्षता एवं जीवन के प्रत्येक संघर्ष में सत्य, अहिंसा और कर्मठता को समस्त भारतीयों को अपनाने पर बल दिया।
महात्मा गांधी को पढ़ने की जरूरत नहीं है बल्कि उनके विचारों और उनके प्रयोगों को आत्मसात करके प्रत्येक भारतीय को अपनाने की आवश्यकता पर सभी वक्ताओं ने बल दिया।
इस कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न महाविद्यालयों के प्राचार्य, विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष, कॉलेजों के शिक्षक एवं सभी महाविद्यालयों से छात्रों की भरपूर उपस्थिति रही। कार्यक्रम का बेहद सफल संचालन गांधीवादी विचारक डॉक्टर कुमार रमन ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रोफेसर मनीष द्वारा संपन्न हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here