मुख्यमंत्री मान ने भ्रष्टाचार के आरोपी मंत्री विजय सिंगला को कैबिनेट से किया बर्खास्त

Chief Minister Mann sacks minister Vijay Singla, accused of corruption, from the cabinet

0
99

चंडीगढ़, 24 मई-पंजाब को भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बनाने की अपनी प्रतिबद्धता को सिद्ध करते हुए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अपनी ही सरकार के स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला को अपने विभाग में एक प्रतिशत कमीशन मांगने के दोषों के कारण बरख़ास्त कर दिया है।

अपने मंत्री को बर्खास्त करते हुए मुख्यमंत्री मान ने कहा, “ हम रिश्वतखोरी और घूसखोरी कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। भ्रष्टाचार करने वाला व्यक्ति चाहे कितना भी रसूखदार क्यों न हो, बक्शा नहीं जाएगा। हमारी सरकार में किसी को भी गैर कानूनी और भ्रष्ट गतिविधियों की इजाज़त नहीं दी जाएगी।“

मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि उन्होंने डॉ. सिंगला को अपनी कैबिनेट से बरख़ास्त कर दिया है और पुलिस को केस दर्ज करने के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि यह मामला सिर्फ़ उनके ही ध्यान में था और वह इसको आसानी से दबा या टाल सकते थे, परन्तु उन्होंने खटकड़ कलां की पवित्र धरती पर पंजाब को भ्रष्टाचार मुक्त करने का प्रण लिया था और इस दिशा में यह एक ऐतिहासिक कदम है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों ने उनको पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था के लिए चुना है। इसलिए हमारा यह फ़र्ज़ बनता है कि हर पंजाबी की उम्मीदों और इच्छाओं पर खरा उतरें। उन्होंने कहा कि देश को आज़ाद हुए 75 साल हो चुके हैं, लेकिन आज तक देश में ऐसे सिर्फ दो ही मिसाल मिले हैं। पहला, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने साल 2015 में तब मिसाल कायम की, जब उन्होंने भ्रष्टाचार के दोषों के कारण अपने ख़ाद्य एवं सप्लाई मंत्री को बरख़ास्त किया था। दूसरा मिसाल आज पंजाब ने पेश किया है। उन्होंने कहा कि डॉ. सिंगला ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है और अब कानून अपना काम करेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनसे पहले वाले मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार को पनाह देते रहे और बाद में यह कहते थे कि उन्हें अपने मंत्रियों के भ्रष्टाचार और माफिया से संबंधित गतिविधियों में लिप्त होने की जानकारी थी। लेकिन अब पंजाब में ईमानदार सरकार है। अब जानकारी मिलते ही भ्रष्टाचारियों के खिलाफ तुरंत और सख्त कार्रवाई होगी, चाहे वह हमारा ही मंत्री या विधायक क्यों न हो।

विरोधी दलों पर तंज कसते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विरोधी पार्टी हमारे इस फैसले पर निशाने साधेंगे, जबकि वे हमेशा भ्रष्ट नेताओं को बचाते और आगे बढ़ने में मदद करते रहे हैं और हमने भ्रष्टाचार के खि़लाफ़ कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार का इरादा और नीयत साफ़ है। भ्रष्ट कार्यों की किसी को भी इजाज़त नहीं दी जायेगी। जो भी भ्रष्टाचार में शामिल होगा, उसे गंभीर नतीजे भुगतने पड़ेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here