पानीपत नेफ्था क्रैकर में आग एवं गैस रिसाव के खतरे से निपटने का अभ्यास किया गया

Fire and gas leak hazard exercise was conducted at Panipat Naphtha Cracker

0
57

पानीपत, 18 अगस्त, 2022
पानीपत रिफाइनरी एवं पेट्रोकेमिकल कॉम्पलेक्स (पीआरपीसी) द्वारा आग एवं गैस जैसे खतरे से निपटने के लिए समय-समय पर मॉक ड्रिल आयोजित किए जाते रहते हैं। इसी कड़ी में आज दिनांक अगस्त 18, 2022 को पानीपत नेफ्था क्रैकर संयंत्र में विभिन्न विभागों के द्वारा हाइड्रोकार्बन गैस एंव आग के खतरे से निपटने की तैयारियों तथा इस संबंध में स्थापित दिशानिर्देशों के अनुसरण में आपातकालीन कार्य प्रणाली के सही आकलन करने हेतु एक ऑनसाइट आपदा ड्रिल का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया।

इस ड्रिल के परिदृश्य में एन. सी. यू. यूनिट के कंडेंसेट स्ट्रीप्पर रिबोइलर में फ्लैंज से हाइड्रोकार्बन एंव जहरीली गैस का रिसाव को दर्शाया गया था। सुबह 10:17 बजे जब रिबोइलर चेंज ओवर किया जा रहा था तभी रिबोइलर के फ्लैंज से हाइड्रोकार्बन गैस का रिसाव होना शुरू हुआ जिससे थोड़ी देर बाद आग लग गयी। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए 10:30 बजे अग्नि एंव सुरक्षा विभाग के शिफ्ट प्रभारी ने मुख्य सुरक्षा प्रबन्धक से चर्चा करके आपातकालीन सायरन बजाने का आदेश दिया और इसके पश्चात 10:32 बजे श्री सुधांशु शेखर, मुख्य महाप्रबंधक (तकनीकी) ने इस घटना को L-2 आपदा घोषित कर दिया।

उसके बाद पानीपत नेफ्था क्रैकर एवं रिफाइनरी के सभी संबन्धित अधिकारी एंव कर्मचारी हाइड्रोकार्बन गैस रिसाव एंव आग के रोकथाम में लग गए। आपातकालीन सायरन बजते ही फायर स्टेशन से दमकल गाड़ियाँ साइट पर गई और ज्वलनशील पदार्थ के रिसाव पर काबू करने के लिए फायर मॉनिटर और वाटर कर्टन के माध्यम से आपातकाल नियंत्रण कार्य प्रारंभ किया।

इस घटना की सूचना जैसे ही श्री एम एल डहरिया , कार्यकारी निदेशक एवं रिफाइनरी प्रमुख, पीआरपीसी को दी गई वह तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ स्थिति का आकलन करके लगभग एक घंटे के अथक प्रयास के बाद 11:17 बजे स्थिति पर पूरी तरह नियंत्रण करके स्थिति सामान्य होने की घोषणा की गई।

इस आपदा ड्रिल के बाद श्री एम एल डहरिया की अध्यक्षता में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। इस बैठक में आपातकालीन तैयारी योजना में और सुधार के लिए आपातकालीन समन्वयकों द्वारा दी गई रिपोर्ट की समीक्षा श्री डहरिया तथा संबन्धित वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में की गई। यह डिब्रीफिंग सत्र रिफाइनरी मुख्यालय द्वारा निर्गत दिशानिर्देशों के अनुसार आयोजित किया गया जिसमें गैस व आग की रोकथाम के लिए और पूरी सावधानी के साथ-साथ तत्परता से कार्रवाई करने पर बल दिया गया। श्री डहरिया ने इस मॉक ड्रिल के सफल आयोजन के लिए सभी की सराहना की तथा इसमें और अधिक सुधार लाने के लिए अपने मूल्यवान सुझाव भी दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here