पर्यावरण की दृष्टि से भारत विश्व का कर रहा है मार्गदर्शन: भूपेंद्र यादव

India is guiding the world in terms of environment: Bhupendra Yadav

0
122

फरीदाबाद, 15 जुलाई। फरीदाबाद में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रशिक्षण शिविर के दूसरे सत्र में मुख्य वक्ता के रूप में पहुंचे केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन को लेकर भारत द्वारा विश्व में किये जा रहे कार्यो की कार्यकर्ताओं से चर्चा की। इस सत्र की अध्यक्षता हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने की। उन्होंने कहा कि अब पूरी दुनिया की नजर भारत पर टिकी है। विश्व में पर्यावरण को लेकर जो चिंताएं हैं भारत उनका निराकरण करने के लिए अग्रणी भूमिका में कार्य कर रहा है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि भारत 2070 तक कार्बन उत्सर्जन के मामले में पूरी तरह से मुक्त हो जायेगा। इस मौके पर केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने पार्टी के पदाधिकारियों द्वारा पूछे गए सवालों का भी जवाब दिया। खुद प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ ने भी उनसे पर्यावरण परिवर्तन को लेकर भारत की स्थिति पर प्रश्न पूछा जिसका जवाब भूपेंद्र यादव ने दिया।
दुनिया में भारत की बदलती छवि व उसका प्रभाव विषय पर बोलते हुए केंद्रीय पर्यावरण मंत्री श्री यादव ने कहा कि आज दुनिया जलवायु परिवर्तन को लेकर चिंतित है और भारत की तरफ देख रही है। उन्होंने कहा कि 2015 में जलवायु परिवर्तन पर हुआ समझौता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर हुआ और इसके बाद पेरिस समझौता भी पीएम मोदी की दूरदर्षिता के कारण हो पाया। इसके बाद ग्लासको में बिगड़ते पर्यावरण को लेकर बैठक हुई जिसमें वैकल्पिक उर्जा पर जोर दिया गया।
उन्होंने कहा कि उर्जा के मामले में भारत शीघ्र सक्षम हो जाएगा और वर्ष 2030 तक 30 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य पार कर लेगा। भारत 2070 तक कार्बन उत्सर्जन से मुक्त होकर दुनिया के लिए एक प्रेरणा बनेगा और दुनिया को भी इस गंभीर समस्या से छुटकारा दिलाने अग्रणी भूमिका निभायेगा। प्रधानमंत्री की योजनाओं से भारत के नेतृत्व की मिसाल विश्व में कायम हुई है। इसी का परिणाम रहा है कि 5 जून पर्यावरण दिवस पर हुई बैठक में सभी देशों के प्रतिनिधियों ने खुले मन से पीएम की योजनाओं को सराहा था।
कार्यकर्ताओं को जानकारी देते हुए श्री यादव ने कहा कि हरियाणा डार्क जोन में है जिससे किसानों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। किसानों को सक्षम बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 करोड़ किसानों को सॉयल टेस्ट कार्ड दिए, जिससे किसान अपनी उपज को बढ़ा सकें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नेतृत्व पूरी दुनिया मान रही है। इंटरनेशनल सोलर एलायंस का गठन हुआ जिसका वर्ल्ड कार्यालय गुरूग्राम में बनाया गया है। उन्होंने बताया कि फ्रांस के साथ मिलकर सोलर एलांयस बनाया गया है जिसमें 137 देश अभी तक जुड़ चुके हैं। जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि जल्द ही भारत में सीडीआरआई का कार्यालय भी बनेगा। जिसकी योजना यूएसए के साथ मिलकर बनाई जा रही है।
शिविर के दूसरे सत्र में कार्यकर्ताओं को अहम जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र सिंह यादव ने बताया कि जी-7 में भारत को विशेष दर्जा मिला है और जी-20 की अध्यक्षता भी भारत को मिली है। जल्दी ही भारत जी-20 की अध्यक्षता करते दिखेगा। प्रधानमंत्री मोदी का दुनिया में बढ़ते प्रभाव का कारण ही है कि यूएई, मालदीव, बहरीन, साउदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात जैसे देशों ने उन्हें अपने नेशन अवार्ड से सम्मानित किया है। माइक्रोसॉफ्ट के मालिक बिल गेट्स की पत्नी मिलिंडा गेट्स पीएम मोदी से मिलीं और उन्हें सम्मानित किया।
श्री यादव ने कहा कि कोविड के बाद न्यू वर्ल्ड कैसा होगा इस पर प्रधानमंत्री ने अपने सुझाव ब्रिक्स की बैठक में रखे जिसकी काफी सराहना की गई। प्लास्टिक पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए एक जुलाई से 75 माइक्रोन को बंद कर दिया, 20 दिसबंर से 120 माइक्रोन को भी बंद कर दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सफल नेतृत्व के कारण ही यूक्रेन से भारत अपने नागरिकों को निकालने में सफल रहा। सबसे खास बात तो यही रही कि पीएम मोदी के आह्वान पर दो दिनों तक रूस और यूक्रेन ने अपनी लड़ाई बंद रखी। भारत की गरीब कल्याण योजनाओं की दूनिया में चर्चा है। अब भारत विकासशील देशों का नेतृत्व कर रहा है। भारत को संयुक्त राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद का दो वर्षों तक अस्थायी सदस्य बनाया गया है। श्री यादव ने कहा कि देश की सुरक्षा को लेकर भारत कोइ समझौता नहीं करेगा। आतंकवाद के खिलाफ भारत ने अपनी आवाज बुलंद की है। पठानकोट हमले के बाद भारत ने सक्षमता से जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि भारत किसी खेमे में नहीं, भारत किस गुट में नहीं। हम खुद में संप्रभु राष्ट्र है।
एक्ट इस्ट पॉलिसी के तहत भारत ने पडोसी देशों के साथ अपना पड़ौसी धर्म निभाया है। भारत ने कवार्ड जोन की रचना की और अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भारत ने आठ वर्षों में अपने दूतावासों का विस्तार करते हुए 18 देशों में नए दूतावास खोले। कार्बन उत्सर्जन को कम करने के लिए भारत 2050 तक कोयला कार्बन को समाप्त कर देगा। रेलवे को भी विद्युत से जोड़ रहा है। श्रीलंका के मामले में भी श्री यादव ने बताते हुए कहा कि श्रीलंका में जो चल रहा है वो उसका अपना आतंरिक मामला है लेकिन भारत अपना पड़ौसी धर्म जरूर निभाता रहेगा।

तीसरे सत्र में पवन जिंदल ने रखे विचार तो चौथे सत्र में अनिल विज ने दिया उद्बोधन


इसके बाद विचार परिवार विषय पर सत्र रखा गया जिसमें संघ के प्रांत संघ चालक पवन जिंदल ने कार्यकर्ताओं से संगठित होकर समाज हित के लिए समर्पित भाव से कार्य करने की बात कही। इस सत्र की अध्यक्षता पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने की। पहले दिन रखे गए सभी सत्रों में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ सहित प्रदेश भर के सभी सांसद, मंत्री व विधायक और पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी मौजूद रहे। इसके बाद चौथे सत्र में प्रदेश के गृहमंत्री अनिज विज ने क्षेत्रपोषण विषय पर अपने विचार रखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here